Sai Anamika

My blogs

About me

Location Bareilly, Uttar Pradesh, India
Introduction मैं नारी हूँ मुझे किसी ने न जाना किसी ने न पहचाना मैं नारी हूँ मेरा काम है लड़ते जाना। लड़ती हूँ मैं पुराने रीति-रिवाजों से करती हूँ अपने बच्चों को सुरक्षित अंधविश्वासों की आँधी से रहती हूँ हरदम अभावों में पर देती हूँ अभयदान। मैं नारी हूँ ... उलझी रहती हूँ सवालों में जकड़ी रहती हूँ मर्यादा की बेड़ियों में बदनामी का ठिकरा हमेशा फोड़ा जाता है मुझ पर मैं हँसते-हँसते हो जाती हूँ कुर्बान। मैं नारी हूँ ... नए रिश्तों की उलझन में उलझी रहती हूँ मैं पर पुराने को निभाकर हरदम चलती हूँ मैं रिश्तों में जीना और मरना काम है मेरा। मैं नारी हूँ ...