कुमार विनोद

My blogs

About me

Gender MALE
Industry Communications or Media
Occupation Journalist, Poet
Location अब तो दिल्ली वाले हो गए हैं, क्रांति प्रदेश, India
Introduction https://www.amazon.in/Ekranga-Kumar-Vinod/dp/938113085X/ref=sr_1_1?keywords=ekranga&qid=1556026124&s=gateway&sr=8-1&fbclid=IwAR1bHN5O6r0BJqgoJ653vV7xxiNfld4eePm-CO0u4UHrYrKj3z4fz-ErcIg ये मेरे होने का रंग है- 25 साल की अनुभवों का पहला संग्रह. इसमें मैं हूं, मेरे दौर की दुनिया है और अब जो नहीं है, उनकी छवियों के साथ... वैसे.... पेशा तो है हमारा- आप कहें और हम जानें का, क्योंकि हमारे पेशे में सुनने की सख्त हिदायत है. मगर लगातार सुनते रहने की क्रिया कालांतर में ऐसी प्रतिक्रिया करती है कि अगर 'रसायन' को बाहर न आने दें तो खाज शुरू हो जाती है. लेकिन दिक्कत ये है कि बोलना आज की डेट में कई लोगों को खटक सकता है, इसलिए अक्सर चुप ही रहते हैं-(वैसे भी डेस्क जॉब इसकी ज्यादा गुंजाईश भी नहीं छोड़ता)लेकिन प्रकृति का नियम है, 'जो अंदर जाता है वो बाहर आता है, भले ही निकलने का अनुपात अलग हो.' इस तरह अपने लेखन को उत्सर्जन कह सकते हैं- और कहें भी क्या?
Interests Music, literature
Favorite Movies Do Bigha Zameen, Mother India, Mughl-E-Azam, Saheb Biwi Aur Ghulam, Pakeeza, Sholay, Chandani
Favorite Music Instrumental
Favorite Books Brecht, kafka, premchand, Agyeya, tahmeena durrani