मोहन श्रोत्रिय

My blogs

Blogs I follow

About me

Gender MALE
Location जयपुर, राजस्‍थान, India
Introduction '70 के दशक में चर्चित त्रैमासिक 'क्‍यों' का संपादन - स्‍वयंप्रकाश के साथ. राजस्‍थान एवं अखिल भारतीय शिक्षक आंदोलन में अग्रणी भूमिका - 1980-84 के बीच. महासचिव, राजस्‍थान विश्‍वविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक संघ तथा राष्‍ट्रीय सचिव, अखिल भारतीय विश्‍वविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक महासंघ. 18 किताबों का अंग्रेज़ी से हिंदी में अनुवाद. लगभग 40 किताबों के अनुवाद का संपादन. जल एवं वन संरक्षण पर 6 पुस्तिकाएं हिंदी में/2 अंग्रेज़ी में. अनेक कविताओं, कुछ कहानियों तथा लेखों के अनुवाद पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित. ख़ुद की भी कुछ कविताएं तथा लेख यत्र-तत्र प्रकाशित. 'रेकी' पर दो पुस्‍तकें: 'रेकी रहस्‍य' और Decoding Reiki'.
Interests पढ़ना-पढ़ाना, लिखना-बोलना, मिलना-जुलना
Favorite Movies प्‍यासा, काग़ज़ के फूल, गाइड, शतरंज के खिलाड़ी, अंगूर, गोलमाल (अमोल पालेकर)
Favorite Music वाद्य संगीत (बांसुरी, सितार, जलतरंग, तबला)
Favorite Books अग्निदीक्षा, मेरा बचपन, मेरे विश्‍वविद्यालय, जीवन की राहों पर, लेनिन, मार्क्‍स-एंगेल्‍स ग्रंथावली, परसाई रचनावली, दस्‍तावेज़- मंटो, शेक्‍सपियर, ब्रेख्‍़त, इब्‍सन, शॉ, के नाटक

"People won't care how much you know until they know how much you care." - Robin Sharma, "The Monk who Sold his Ferrari"